sex stories in hindi

hindi sex stories

सेक्सी सुष्मिता आंटी की चुदाई

माय नें ईज़ सिद्धार्थ एंड आई एम फ्रॉम सिटी ऑफ लव आगरा एंड करेंट्ली स्टेयिंग इन देल्ही एंड माय हिन्दी सेक्स स्टोरीस ईज़ अबौट हाउ आई फक माय आंटी आंड एनी आंटी भाभी फ्रॉम देल्ही अंड आगरा मैल मी.

loading...

अब मैं आपको बोर ना करते हुए स्टोरी पर आता हूँ ये बात कुछ 1 मंत पहले की है और मेरी आंटी के बारे मैं बताता हूँ उनका नाम सुष्मिता है वो 38 ईयर की है पर लगती 30 की है.

और उनके गोल गोल बूब्स एंड उनकी बड़ी बड़ी गॅंड किसी को भी मूठ मारने मे मजबूर कर दे और मेरा लाउडा उन्होने अपने आप को काफ़ी मेनटेन करके रखा है.

मेरा लॅंड मैने नापा तो नही बट किसी भी लेडी को सॅटिस्फाइ करने के लिए काफ़ी है.

मेरी आंटी मेरे घर के बगल मे ही रहती है और उनके घर मेरा डेली आना जाना रहता है और अंकल बिज़्नेस टूर पर ही रहते है और उनके दोनो बच्चे हॉस्टिल मे मेरी नज़र उनपर काफ़ी टाइम से थी बट कभी हिम्मत नही हुई.

ये सब करने को बट मैं मौका देख कर उनके बाथरूम मे उनकी ब्रा और पैंटी मे मुट्ठी मार देता एंड मैं डेली उनके बूब्स को देखता स्पेशली जब वो झुकती थी उनके बूब्स बाहर को और दिखते थे मुझे बस मौके का इंतेज़ार था कैसे मैं उनके बूब्स को मसलू और उनकी चुत मे अपना लॅंड घुसा दू.

वो दिन आ ही गया जिसका मुझे इंतेज़ार था मैं आगरा मे ही था उस टाइम तो मैने एक प्लॅन बनाया मेरे घर पर सब बाहर गये हुए थे और मैं उनके घर पर ही रुका था और अंकल भी टूर पर जा रहे थे तो मैं और आंटी बचे थे घर पर, आंटी नहाने गयी थी और मैं बेडरूम मे ही था मैने की होल से देखने की कोशिश की बस उनका बॅक नज़र आया तो मैं बेड पर आकर बैठ गया

प्लॅन के अनुसार मैं जानभुज कर बीएफ देखते हुए अपना लंड सहला रहा था और मुझे पता था आंटी बाहर आने वाली है एकदम से उन्होने गेट खोला और मुझे देख रही थी बट उन्हे ऐसा लगा मुझे पता नही.

उन्होने ख़ास्ते हुए मुझे इशारा किया मैने नाटक करते हुए अपना लंड बाहर ही रहने दिया और वो उन्हे सलामी दे रहा था वो ब्लॅक कलर की नाइटी मे थी जिससे वो काफ़ी सेक्सी लग रही थी.

मैने अपना लंड छुपाया पर उनकी नज़र मेरे लोवर के अंदर बने टेंट पर थी उन्होने चिल्लाते हुए पूछा क्या कर रहे थे मैने डरते हुए सॉरी बोला और उन्होने बड़े सॉफ्ट्ली कहा इट्स ओके तुम्हारी उमर मे ये सब नॉर्मल है ओर फिर वो मेरी जीएफ़ के बारे मे पूछने लगी.

मैने कहा पहले थी अब नही है और उन्होने कुछ किया भी था तब भी यही करते थे और मैने डरते हुए नज़रे नीचे झुका ली फिर वो मेरे पास आई और मेरे सिर पर हाथ फेरते हुए पूछा तू मेरी ब्रा पैंटी मे मूठ मारता था और मुझे घूरता भी था.

तो मैने कहा आप हो ही इतनी सेक्सी उन्होने बोला मुझ मे ऐसा क्या है कहते कहते वो मेरे झांगो पर हाथ फेर रही थी मैने उन्हे आई लव यू बोला और उन्हे किस करने लगा पहले वो रेज़िस्ट कर रही थी पर बाद मे साथ देने लगी.

फिर मैं उन्हे स्मूच करने लगा और उनके बूब्स भी दबा रहा था और वो मेरे लंड को सहला रही थी मैने उनका गाउन को उतारा और अंदर उन्होने ब्लॅक कलर की ब्रा पैंटी पहनी थी काफ़ी सेक्सी लग रही थी.

फिर मैने उनकी ब्रा हटाई और मैं तो पागल ही हो गया उनके मोटे मोटे बूब्स देख कर और उन्हे चूसने लगा फिर धीरे से उनकी पैंटी को नीचे किया ओर फिगरिन्ग करने लगा जिससे आंटी उत्तेजित हो गयी

फिर हम दोनो 69 पोज़िशन मे आए और मैं उनकी चुत चाटने लगा वो मेरा सिर दबाने लगी और ह उहह फक मी सिड चोद मुझे मेरे राजा चोद मुझे आह्ह्ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह्ह्ह आवाज़े निकालने लगी और मैं जोश मे आ गया और वो मेरे लॅंड चूसे जा रही थी फिर हम दोनो एक दूसरे के मूह मे झड़ गये और पूरा पानी सॉफ कर दिया.

सुष्मिता आंटी ने कहा डाल दो सिड मेरी फुददी मे अपना लॅंड बना लो अपनी रंडी मैने कहा साली बोहोत तडपया है तेरी तो चुत का भोसड़ा बना दूँगा फिर मैने अपना लॅंड उनकी चुत मे घुसाया आधा ही लंड गया था उनकी चीख निकल गयी.

फिर मैने किस किया उन्हे और एक झटके मे पूरा लॅंड चुत मे घुसा दिया उनकी चीख निकली पर मैं रुका नही और मैं धक्के लगाता रहा और वो भी आवाज़े निकालने लगी ओह सिड फक मी हार्डर फाड़ दो मेरी चुत को अह्ह्ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह्ह मर गयी मैं वो उस दौरान 3 बार झड़ गयी थी

आधे घंटे बाद मैं भी चरम सीमा मे था मैने उनकी चुत मे ही अपना रस डाल दिया और आंटी ने मुझे स्माइल दी और बोला मैं बोहोत प्यासी थी काफ़ी टाइम से तुमने प्यास भुजा दी उसके बाद हम दोनो ने एक साथ शोवेर लिया वाहा मैने बाथटब मे ही चुदाई स्टार्ट कर दी.

फिर हमने नंगे रहकर ही डिन्नर किया एंड आंटी मेरी गोद मे ही बैठी थी मैं अपने हाथ से खिला रहा था और मेरे लॅंड को उपर नीचे कर रही थी मैं भी उनके बूब्स को चूस रहा था

मैने फिर उनको रिक्वेस्ट की गॅंड मारने की पहले तो मना एंड ज़िद करने पर मान गयी, मैने उनकी गॅंड मे और अपने लंड पर वॅसलीन लगाई और फिर मैं धीरे धीरे अपना लॅंड अंदर डाल रहा था उन्हे दर्द भी हो रहा था.

फिर मैने एक झटके मे अपना लॅंड घुसाया उनकी आँखो से आसू आ गये फिर मैं रुका 5मिनट तक किस करता रहा और फिर उनका दर्द कम होने पर मैं उनकी गॅंड मारने लगा और उन्होने मज़े से अपनी गॅंड उछाल उछाल कर मज़े लेने लगे.

फिर मैं उनकी गॅंड मे ही झड़ गया और हम काफ़ी थक गये थे और एक दूसरे की बाहों मे ही सो गये

हमने तीन दिन तक काफ़ी चुदाई की और तीन दिन तक हम घर मे बिना कपड़ो के रहे, जब भी मौका मिलता है हम चुदाई करते है और मैने देल्ही मे एक होटेल मे भी उन्हे और उनकी सहेली रीमा को भी चोदा वो भी बिना कॉंडम के और उसको एक बच्चे की मा भी बनाया वो स्टोरी मैं बाद मे बताउगा.

कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट सेक्षन मे ज़रूर लिखे, ताकि देसीकाहानी पर कहानियों का ये दौर आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

आप मुझे फीडबॅक देना मेरी हिन्दी सेक्स स्टोरीस कैसी लगी, एनी आंटी भाभी फ्रॉम देल्ही और आगरा कॉंटॅक्ट मी और मैल मी मेरी मैल आईडी है अगर वो मुझसे चुदना चाहती है 100℅ सेफ एंड सॅटिस्फॅक्षन गॅरेंटीड.

0Shares
admin
Updated: October 6, 2018 — 8:03 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sex stories in hindi © 2018 Frontier Theme
error: Content is protected !!