sex stories in hindi

hindi sex stories

पुलिस वाले ने गांड मार डाली

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रवि है, में 21 साल का हूँ और आज में आपके साथ मेरी एक सच्ची स्टोरी बताना चाहता हूँ. ये बात जनवरी 2006 की है, जब में रेल्वे का एग्जॉम देने के लिए चंडीगढ़ गया था. में अकेला ही दिल्ली से आया था.

loading...

फिर एग्जॉम खत्म होने के बाद अगली सुबह मेरी ट्रेन थी, तो तब शाम हो गयी थी तो मैंने सोचा कि सिर्फ़ रात गुज़रने के लिए में होटल का एक रूम बुक क्यों करूँ? फिर मैंने डिसाइड किया कि में स्टेशन पर ही रात गुज़रूँगा तो में स्टेशन पर वेटिंग रूम में चला गया और डिनर लेने के बाद एक कुर्सी पर रात गुजारने लगा, तो मुझे पता ही नहीं चला कि में कब सो गया? फिर थोड़ी देर के बाद एक पुलिस वाले ने मुझे जगाया और मेरे बारे में पूछने लगा तो मैंने बता दिया कि मेरी ट्रेन सुबह है और में यहाँ इंतजार कर रहा हूँ.

फिर पुलिस वाले ने कहा कि ये वेटिंग रूम असुरक्षित है और यहाँ तुम्हारा बैग, रुपए चोरी हो सकते है तो तुम मेरे कैबिन में चले जाओ और सो जाओ. फिर में उसके कैबिन में चला गया, तो थोड़ी देर के बाद वो भी आ गया, तो उसने बोला कि तुम बेड पर सो जाओ, मेरी तो नाईट ड्यूटी है.

फिर में बेड पर लेट गया, तो फिर पुलिस वाला भी उसी बेड पर आ गया और उसने दरवाज़ा बंद कर लिया. अब मुझे कुछ शक हुआ, फिर वो धीरे-धीरे अपना एक हाथ मेरी टी-शर्ट में डालने लगा तो मैंने पुलिस वाले को रोक दिया, तो फिर वो चला गया. अब में सोने लगा था कि रात में अचानक से मेरी नींद टूट गयी तो मैंने अपने आपको नंगा पाया. अब उस पुलिस वाले ने मेरे हाथ और पैर बाँध दिए थे. फिर मैंने मदद के लिए सोचा, लेकिन मुझे एक अलग सा एहसास भी हो रहा था. अब में अपने पेट के बल लेटा हुआ था और वो मेरी पूरी बॉडी को चाट रहा था. फिर मुझे गुदगुदी सी होने लगी, अब वो मेरी गांड में अपनी जीभ डालकर चाट रहा था.

फिर थोड़ी देर के बाद वो बोला कि तो तुम जाग गये? मज़ा आ रहा है ना, तो मैंने कुछ नहीं बोला. अब वो मेरी तरफ आने लगा था तो मैंने उसका लंड देखा तो वो करीब 8 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा था. मैंने इतना लम्बा लंड आज तक कभी नहीं देखा था, अब में एकदम से डर गया था.

फिर उसने अपना बड़ा लंड मेरे मुँह के अंदर डाल दिया, अब मुझे उसका लंड चूसने में बहुत मज़ा आ रहा था. अभी तक उसका आधा लंड ही मेरे मुँह में गया था कि तभी पुलिस वाले ने मेरा सिर पकड़ा और दबा दिया. फिर तो अब उसका आधे से भी ज्यादा लंड मेरे मुँह में घुस गया था. अब मेरी आँखों से आँसू आ गये थे और अब उसका लंड मेरे थूक से पूरी तरह से भीग गया था.

फिर उसके बाद उसने मुझे अपने दोनों पैर को फैलाने को कहा और मेरी कमर के नीचे एक तकिया लगा दिया तो अब उसे मेरी गांड का छेद बिल्कुल साफ-साफ़ दिख रहा था. फिर उस पुलिस वाले ने मेरी गांड में थूक दिया और अपनी एक उंगली डाल दी, तो में दर्द के मारे तड़पने लगा, तो उसने फिर से मेरी गांड में थूका और फिर उसने अपना लंबा लंड मेरी गांड के छेद पर लगा दिया.

अब मुझे बहुत मज़ा आने लगा था, अब मुझे ऐसा लग रहा था कि किसी ने मेरी गांड के ऊपर गर्म रोड रख दी हो. अब वो अपना बड़ा सा लंड मेरी गांड पर लगा रहा था. अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था तो मैंने कहा कि अंकल प्लीज मेरी गांड फाड़ डालो, अपना बड़ा सा लंड मेरी गांड में घुसा दो. फिर पुलिस वाले ने कहा कि बेटा बहुत दर्द होगा, लेकिन अब में तो जोश में आ गया था तो मैंने बोला कि बस अंकल अब मेरी गांड फाड़ डालो. तो वो अपने लंड को अपने हाथ से पकड़कर मेरी गांड के छेद पर दबाने लगा, तो मुझे थोड़ा सा दर्द महसूस हुआ.

फिर अचानक से उसने मेरी गांड में ज़ोर से धक्का मारा तो मुझे बहुत दर्द होने लगा था. फिर मैंने पुलिस वाले से कहा कि बहुत दर्द हो रहा है. तो उसने बोला कि मैंने तो बताया ही था, लेकिन तुम ही तो बोल रहे थे कि मेरी गांड फाड़ दो.

फिर वो बालों का तेल लाया और थोड़ा अपने लंड पर लगाया और थोड़ा मेरी गांड में लगा दिया, अब मेरा दर्द भी कुछ कम हो गया था. फिर वो अपना लंड मेरी गांड में घुसाने लगा, अब मुझे मीठा-मीठा सा दर्द हो रहा था.

फिर जब उसने अपना पूरा लंड मेरी गांड के छेद में डाला तो में तड़पने लगा और उसने मुझे अपनी बाहों में कसकर पकड़ लिया और 4-5 बार ज़ोर-जोर से धक्का मारा. अब में तो तड़प रहा था, लेकिन हिल भी नहीं सकता था. अब मुझे लगा कि मेरी गांड में से खून निकल रहा है, लेकिन वो नहीं रुका.

फिर थोड़ी देर के बाद मेरा दर्द कुछ कम हुआ और में अपनी चुदाई को इन्जॉय करने लगा तो मैंने अपने चूतड़ों को ऊपर की तरफ किया, ताकि उसका पूरा लंड मेरी गांड में समा जाए. अब वो भी काफ़ी अच्छी तरह मुझे चोद रहा था. अब वो मेरी गांड पर ज़रा सा भी रहम नहीं दिखा रहा था. फिर उसने मुझे रस्सियों से आज़ाद कर दिया तो में खड़ा हो गया और अपनी गांड पर अपना हाथ लगाकर देखा तो वहाँ बड़ा सा छेद हो गया था.

फिर उसने मुझे अपनी टेबल पर सीधा बैठा दिया और अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों पैर ऊपर की तरफ कर दिए और मेरी गांड में अपना पूरा लंड एक ही बार में डाल दिया. अब मुझे दर्द नहीं हो रहा था, लेकिन मज़ा आ रहा था. फिर करीब 5 मिनट के बाद उसने मुझे तरह-तरह से चोदा. अब उसके बाद उसकी चोदने की स्पीड डबल हो गयी थी, अब चोदने की आवाज़ से पूरा रूम गूँज रहा था और ठप-ठप, पच-पच की आवाज़ आ रही थी.

फिर मुझे मेरी गांड के अंदर कुछ गर्म सा एहसास हुआ और वो पुलिस वाला झड़ गया और मेरे ऊपर ही सो गया. अब में भी बहुत थक चुका था और फिर मुझे पता ही नहीं चला कि कब नींद आ गयी? फिर उस रात उसने मेरी गांड करीब 4-5 बार मारी.

अब मेरी गांड एकदम लाल हो गयी थी और बहुत दर्द भी हो रहा था. अब मुझे सुबह में चलने में भी तकलीफ़ हो रही थी, लेकिन मुझे बहुत मज़ा भी आया था.

0Shares
admin
Updated: October 6, 2018 — 7:35 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sex stories in hindi © 2018 Frontier Theme
error: Content is protected !!