sex stories in hindi

hindi sex stories

कॉलेज की दो लेस्बियन लड़कियों को चोदा

हैल्लो दोस्तों मैं हूँ गौरव शुक्ला | मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ और बहुत ही कमीना किस्म का इंसान हूँ | मैं हमेशा मौका ढूंढता कि मुझे किसी के बारे में कुछ पता चले और मैं उसका इस्तमाल करके अपना काम निकलवाऊ | मैंने इस तरीके से अपने बहुत से काम बनवाए और कभी कभी इसी वजह से मेरी गांड भी टूटी है | खैर ये तो रही मेरी बात, अब मैं आपको अपने ज़िन्दगी का एक मजेदार किस्सा सुनाता हूँ जिसमें मैंने दो लड़कियों का फायदा उठाया था, जो की मेरे ही कॉलेज की थी और लेस्बियन थी |

loading...

ये बात है मेरे कॉलेज ये समय की जब मैं पढाई लिखाई किया करता था लेकिन रहा तो कमीना ही | मेरी क्लास मुझे बहुत ही मादरचोद किस्म का इंसान समझती थी जो की मैं हूँ | इसलिए मेरी क्लास में मेरा एक ही दोस्त था और कभी कभी वो भी आता था तो मैं ऊपर वाली विंग में जाकर बैठता था | ये विंग बिलकुल खाली रहती थी और यहाँ सफाई वाले के अलावा कोई नहीं आता था | ये जगह ऐसी थी कि अगर कोई यहाँ किसी को चोद भी दे तो पता ना चले | मैं अक्सर वहीँ अकेला घूमता रहता था |

एक दिन मैंने वहां से दो लड़कियों को जाते देखा तो मुझे लगा ये दो यहाँ क्या कर रही हैं ? तो मैं जल्दी से भाग के उनके पीछे गया लेकिन वो दोनों जा चुकी थीं | मेरे मन में सवाल उठने लगे कि ये दोनों यहाँ क्या कर रही थी ? पहले कभी नहीं देखा इनको यहाँ | तो मुझे लगा होगा कुछ, जाने दो मुझे क्या | फिर मैं वहीँ बैठा रहा और थोड़ी देर बाद अपनी क्लास चला गया | कुछ दिन बाद वो लड़कियां मुझे फिर से दिखीं लेकिन मैं फिर से उन तक नहीं पहुँच पाया और वो निकल गई लेकिन इस बार मैंने उनका चेहरा देख लिया था |

अगले दिन जब कॉलेज की छुट्टी हुई तो मैं बाहर खड़ा था और मुझे वो दोनों लड़कियां दिखाई दी | वो दोनों एक दुसरे का हाँथ पकड़ के चली जा रहीं थी | तो मेरे मन में फिर से सवाल उठा कि ये दोनों हाँथ क्यूँ पकड़ी है | फिर मैंने दूसरी लड़कियों पर नज़र दौडाई तो कोई भी अपनी सहेली का हाँथ पकड़ के नहीं चल रही थी | तो मैं समझ गया कि कुछ तो लफड़ा है | तो मैंने इनके बारे में पता लगाना शुरू कर दिया | मैंने फेसबुक पर दोनों की फोटो देखीं जिनमें दोनों चिपक चिपक के खड़ी हैं तो मुझे लगा ज़रूर ये दोनों को एक दुसरे से प्यार है |

अब मैं कॉलेज की उस विंग में छुप छुप कर घूमता रहता था और मौका ढूंढता था कि ये दोनों मुझे मिल जाये तो मैं अपनी कुछ जुगाड़ जमा लूँ | दो हफ्ते हो गए मैं रोज़ वहीँ बैठा रहता था लेकिन वो दोनों मुझे कहीं नहीं दिखीं | फिर एक बार मैंने उनमें से एक को वहां जाते देखा और मैं भी धीरे धीरे उसके पीछे हो लिया | मैं जैसे ही ऊपर गया तो देखा वो दोनों एक दुसरे से चिपक के खड़ी थी और आपस में किस कर रहीं थी | तो मैंने सोचा कि अब मैं क्या करूँ ? तभी पीछे से किसी के आने की आहट हुई और मैं वहां से भाग गया | वो भोसड़ी वाले सफाई वाले को भी तभी आना था |

फिर मैं कुछ दिन तक सोचता रहा कि मैं अगर उस दिन ऐसे ही चला जाता, तो शायद दोनों मिलकर मेरी गांड मार लेती और मैं कुछ कर भी नहीं पता क्योंकि मेरे पास कोई सबूत नहीं था | फिर मैंने सोचा कि अब अगली बार आने दो बचके नहीं जा पाएंगीं मुझसे |  तो मैंने फिर उसी विंग में घूमना शुरू कर दिया और लगभग 10 दिन की कड़ी कोशिशों के बाद मुझे वो दोनों फिर से दिखाई दी | मैंने थोड़ी देर प्रतीक्षा की ताकि माहौल को समझ सकूँ | वो दोनों एक दुसरे से लिपट कर चुम्मा चाटी कर जा रहीं थी और एक दुसरे को यहाँ वहां छुए जा रही थी |

फिर दोनों एक कमरे के अन्दर चली गई जिसमें सिर्फ खाली टेबल ही रखी थीं | मैं भी दबे पैर वहां गया और छुप के खिड़की से सब कुछ देखने लगा | मैंने अपना फ़ोन पहले से ही साइलेंट कर रखा था तो फ़ोन बजने का कोई चक्कर नहीं | फिर मैंने सोच की क्यों ना इनका वीडियो बना लिया जाये | तो मैंने उपना मोबाइल निकाला और चुपके से उनका वीडियो बनाने लगा | वो उस वक़्त एक दुसरे कि चूत चाट रही थी और मैंने उनका वीडियो ऐसे बनाया की उनका चेहरा ठीक से दिखाई दे | फिर मैंने मोबाइल बंद किया और उस वीडियो की कॉपी बनाई और इन्टरनेट पर भी सेव कर दी ताकि मेरे मोबाइल को कुछ हो फिर भी मेरे पास सबूत हो |

मैं उठा और सीना तान के अन्दर गया और कहा मैंने सब देख लिया है और मेरे पास सबूत भी है | तो वो हडबडा के उठ गईं और कहने लगीं कैसा सबूत ? तो मैंने उनको दूर से मोबाइल में वीडियो चला के दिखाया और कहा ये सबूत | तो उन दोनों के चेहरे रोने जैसे हो गए और कहने लगे प्लाज़ हमे छोड़ दो | मैंने कहा ठीक है लेकिन एक शर्त है मेरी ? तो एक ने पूछा कैसी शर्त ? तो मैं शांत हो गया  और सोचने लगा कितने पैसे लूँ इनसे ? तो उनमें से एक ने ठीक है हम तुम्हारे साथ सैक्स करने को तैयार हैं लेकिन किसी को मत बताना | तो मेरे मन में लड्डू फूटने लगे और मैंने कहा ठीक है तो फिर चालू हो जाओ | मैंने तो पैसे की सोची थी लेकिन चूत के मज़े के आगे सब फीका है |

उनमें से एक मेरे पास आई और कहा हम लोग ये कर तो रहे है लेकिन तुम किसी से इसका ज़िक्र भी नहीं करोगे | तो मैंने कहा हाँ ठीक है और वो झुक गई और मेरे लंड को सहलाने लगी | उसने मेरी शर्ट उठाई और मेरे पेट पर हाँथ फिरते हुए कहा कैसा लगा ? तो मैंने कहा एकदम मस्त | फिर दूसरी मेरे पास आई और मुझे किस करने लगी | मैं उसके होंठों में इतना खो गया था कि मुझे और किसी चीज़ का होश नहीं रहा | तो उसने मेरे हाँथ से मेरा मोबाइल छीन लिया और कहा अब बोलो | तो मैंने कहा मैंने इसको ऑनलाइन भी सेव कर रखा है | उन दोनों ने एक दुसरे को देखा और फिर मुझ से कहा ठीक है तुम जीते और आके मेरी पैन्ट खोल के मेरे लंड को चूसने लगी | मुझे अपना लंड चुस्वाने में बड़ा मज़ा आ रहा था क्यूंकि ये पहली बार था | मैंने आज तक बस मुट्ठ ही मारा था | फिर मैंने एक को टेबल पर बैठाया और उसके टॉप को उठा के उसके दूध चूसने लगा और दूसरी नीचे से मेरा लंड चूस रही थी | मेरा उसके मुंह में ही झड गया तो उसने कहा ठीक है तो मैंने कहा पिक्चर भी बाकी है मेरे दोस्त |

फिर मैंने दूसरी वाली को टेबल पर बैठाया और पहले वाली से कहा कि तुम मेरा लंड चुसो | मैंने जैसे ही दूसरी वाली का टॉप उठाया और उसके दूध देखे मुझे तो मज ही आ गया | उसके दूध बहुत बड़े थे | मैंने उसके दूध को खूब दबाया और चूसने लगा | वो आह्हह्ह्हा आःह्ह ऊऊम्म्म्म करने लगी | फिर मैंने उनसे कहा कि दोनों अपनी जीन्स उतारो और अपनी चड्डी भी | तो दोनों ने अपनी जीन्स उतारी और पैंटी उतार के मेरे सामने खड़ी हो गई और मैं उनकी फोटो खींचने लगा | दोनों की चूत एकदम चिकनी थी | फिर मैंने उनमें से बड़े दूध वाली को टेबल पे बैठाया और उसकी चूत में लंड डाल के हिलाने लगा | वो आह्ह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह ऊउह्ह्ह्ह य्य्याह्ह्ह्ह करने लगी तो उसकी दोस्त उसके पास आई और दोनों किस करने लगी और फिर आवाजें बंद हो गई |

मैंने उसको करीब 10 मिनिट तक चोदा और फिर दूसरी वाली को टेबल पर बैठा के उसकी चूत में लंड डाल के आगे पीछे करने लगा | इसकी चूत थोड़ी ज्यादा टाइट थी और इसने भी आःह्ह ह्हूऊ करना शुरू किया तो दोनों फिर से किस करने लगी | मैं चोद इसको रहा था और दूध उसके दबा रहा था क्योंकि उसके बड़े थे ना | फिर मैंने बड़े दूध वाली को पलटा के खड़ा किया और पीछे से उसको चोदने लगा और दोनों फिर से किस करने लगी | फिर मेरा मुट्ठ निकला तो मैंने दोनों को बैठाया और दोनों के दूध पर झडा दिया | फिर हमने कपडे पहने और वहां से चले गए |

अब जब भी मेरा चुदाई का मन होता है तो मैं दोनों को बुला लेता हूँ और मस्त दोनों को चोदता हूँ | मैं उनको ब्लैकमेल करके उनसे पैसे भी लेता हूँ लेकिन उनकी चूत ज्यादा मारता हूँ | तो दोस्त कैसी लगी मेरी कहानी और हो सकता है ये तरीका आपको भी काम आ जाये और आपको चोदने का सुख प्राप्त हो जाये |

0Shares
admin
Updated: October 11, 2018 — 3:32 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sex stories in hindi © 2018 Frontier Theme
error: Content is protected !!