sex stories in hindi

hindi sex stories

पड़ोस में एक आंटी-2 I pados mein ek aunty-2

desi chudai ki kahani अब में उसके निपल्स को अपने दातों से काटने लगा था। अब उसे बड़ा मज़ा आ रहा था और अब वो ऊऊऊऊहह, आआआआहह की आवाज़े निकाल रही थी। अब वो मुझसे लिपटकर बोल रही थी और चूसो, पूरा ख़ा जाओ, खा जाओ मेरा निप्पल। फिर मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया और उसके पूरे बदन को चूसने, चाटने लगा था, आज मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरी बरसों की प्यास बुझ रही है। अब वो बिस्तर पर पड़ी-पड़ी सिसकारियाँ ले रही थी आआआआअहह, ओह और चाटो और चूसो, आआ मेरे पूरे बदन को अपने थूक से गीला कर दो, मुझे खा जाओ, में सिर्फ तुम्हारी हूँ, मेरी प्यास बुझा दो, आहह, सक मी, हाईई में मर गइईईई। अब में धीरे-धीरे उसकी चूत की तरह बढ़ने लगा था। उसकी चूत के ऊपर छोटे-छोटे बाल थे, जो मुझे और पागल कर रहे थे।

loading...

अब में उसके बालों को सहलाने लगा था और उसकी चूत में धीरे-धीरे उंगली करने लगा था। अब उसे मज़ा आने लगा था और अब वो और ऊहह, आआहह, में मर जाऊँगी, मत करो, ऊऊऊ, प्लीज, सस्स्स्सस्स कहने लगी थी, लेकिन अब में उसकी सुनने वाला कहाँ था? फिर मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर लगा दी। अब वो अपने दोनों पैरों को खोलने लगी थी और जोर-जोर से चिल्लाने लगी थी आआआअहह। फिर में उसकी क्लाइटॉरिस को चूसने लगा और अब वो सिसकारियाँ लेने लगी थी। अब में ज़ोर-ज़ोर से अपनी जीभ से उसे चाटने लगा था और वो चिल्लाने लगी थी। अब उसने मेरे सिर को अपनी चूत पर दबा लिया था। फिर वो कहने लगी कि मेरा निकलने वाला है। तो तब मैंने कहा कि तुम मेरे मुँह में डाल दो, में तुम्हारा जूस टेस्ट करना चाहता हूँ। तो फिर क्या था? फिर 2 मिनट के बाद वो खल्लास हो गई और उसकी चूत में से जूस निकलने लगा, वाह क्या टेस्ट था? बिल्कुल मौसमी की तरह। अब में उसका सारा का सारा जूस पी गया था। फिर मैंने उसकी चूत को और चाटा और और फिर उसके बूब्स दबाने लगा। अब मेरा लंड फनफ़ना रहा था।

फिर उसने मेरे लंड को अपने एक हाथ में ले लिया और उसे अपने होंठो से लगाने लगी थी और उसे पूरा का पूरा अपने मुँह में डालकर चूसने लगी थी। अब में मस्त होने लगा था। अब वो मेरे लंड को खूब जोर-जोर से हिलाने और चूसने लगी थी। फिर मैंने उसके बालों को पकड़ लिया और उसके मुँह में अपना लंड पेलने लगा था और अब में अपना लंड पेलते वक़्त उसे रंडी, हरामजादी बोलने लगा था और अब वो और मस्त होने लगी थी। फिर 5 मिनट के ब्लोवजोब के बाद में भी खल्लास हो गया। फिर थोड़ी देर तक में ऐसे ही बिस्तर पर पड़ा रहा और फिर उसने मुझे चूमना स्टार्ट किया। अब मेरा लंड फिर से सलामी देना लगा था। अब में और टाईम बर्बाद नहीं करना चाहता था और ना ही वो। तब मैंने उसकी दोनों टांगो को अपने कंधों पर रखा और अपने लंड का सूपाड़ा उसकी चूत पर टिका दिया। तब उसने मेरे लंड को थोड़ा गाइड किया और फिर एक ज़ोरदार धक्के के साथ मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में चला गया।

अब वो चीखने, चिल्लाने लगी थी बाहर निकाल मादरचोद, तेरे लंड से मेरी चूत फट जाएगी, हाए में मर गइईईईईई, हरामी के पिल्ले निकाल अपना लंड। लेकिन अब में उसकी सुनने वाला कहाँ था और फिर मैंने और जोर-जोर से उसे पेलना चालू किया। फिर थोड़ी देर के बाद ही उसे भी मज़ा आने लगा और अब वो भी अपनी गांड उछालकर मेरा साथ देने लगी थी। फिर क्या था? अब पूरा कमरा उसकी आवाज़ों से और पछ-पछ की आवाजों से गूंजने लगा था। आज मेरा बरसों का सपना पूरा हो रहा था, अब में उसे जी भरकर चोदने लगा था। फिर थोड़ी देर के बार में उसे डॉगी स्टाइल में चोदने लगा। अब में उसके बालों को पकड़कर उसकी गांड पर चाटा मारता हुआ उसकी चूत को चोद रहा था। अब उसे बड़ा मज़ा आ रहा था और साथ में मुझे भी बहुत मजा आ रहा था। अब उसके बूब्स को हिलता हुआ देखकर मेरी स्पीड और बढ़ रही थी। फिर लगभग 20 मिनट की दमदार चुदाई के बाद वो खल्लास हो गई और उसके साथ-साथ में भी झड़ गया था। फिर हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे पर आधे घंटे तक पड़े रहे। फिर मैंने उसकी गांड भी मारी

0Shares
admin
Updated: September 24, 2018 — 11:46 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sex stories in hindi © 2018 Frontier Theme
error: Content is protected !!