sex stories in hindi

hindi sex stories

पड़ोस में एक आंटी-1 I pados mein ek aunty-1

indian sex kahani हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राज है, आज में आपको मेरी एक रियल स्टोरी बताने जा रहा हूँ। मेरी यह पहली स्टोरी है। अब में आपका ज्यादा समय ख़राब ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ। मेरे पड़ोस में एक आंटी रहती थी, उसकी शादी को करीब 20 साल हो चुके है, लेकिन उसके कोई बच्चा नहीं है। वो मुझे बचपन से देखती आ रही है। अब पहले तो मेरा उसमें कोई रूचि नहीं थी, लेकिन 4-5 साल पहले में उसकी तरफ आकर्षित होने लगा। उसका फिगर बहुत स्लिम है और उसके बूब्स छोटे-छोटे लेकिन बहुत सेक्सी है, वो घर में ज़्यादातर एक पेटीकोट में रहती थी, बस यही से में उसकी तरफ आकर्षित हुआ था। मैंने उसको बहुत बार सिर्फ पेटीकोट में देखा था, उसके बूब्स मुझे ललचाने लगे थे। वो मेरे साथ हर टाईप की बातें करती थी, स्पेशली सेक्स की और मुझे बहुत गर्म करती थी। में हमेशा उसके बारे में सोचकर घुठा करता था, अब में उसे चोदने के लिए मर रहा था, लेकिन मुझे ये समझ में नहीं आता था कि कैसे उसे प्रपोज करूँ? क्योंकि में डरता था कि कहीं वो मेरे घरवालो को ना बोल दे। अब इस तरह से में अपने दिल में उसे चोदने की आस दबाए घुठे जा रहा था, लेकिन भगवान के घर में देर है, लेकिन अंधेर नहीं, अब उसने मेरी सुन ली थी।

loading...

फिर एक दिन मेरे घर में सब शादी में गये हुए थे और किस्मत से उसका पति भी शहर से बाहर था। में उसके घर टी.वी देखने जाता था और फिर उस रात भी खाना खाने के बाद में उसके घर गया। अब वो सिर्फ़ पेटीकोट में थी, उसने अपने बूब्स को पेटीकोट में ढका हुआ था। अब उसे देखकर मुझे पसीना आने लगा था। अब में चैनेल चेंज कर रहा था कि एक इंग्लिश चैनेल में एक ब्लू फिल्म केबल वाले ने लगाई थी। तब पहले तो में डर गया और फिर मैंने देखा कि वो सो रही है, तो तब मैंने हिम्मत करके देखना चालू किया। में सोते समय सिर्फ़ टावल पहनता हूँ, वो भी बिना अंडरवेयर के, बस फिर क्या था? मेरा 7 इंच का लंड खड़ा हो गया था और अब में उसको बिंदास सहलाने लगा था।

फिर तभी मुझे ऐसा लगा कि वो मुझे चुपके से देख रही है तो तब में डर गया, लेकिन वो मुझे देखकर मुस्कुराने लगी और गाली बकने लगी थी, वो भी सेक्सी अंदाज में, मादरचोद तेरा लंड तो बड़ा खड़ा हो रहा है, मेरे घर में मेरे सामने हिला रहा है। अब में बहुत डर गया था और ये सोचने लगा था कि कहीं वो किसी से बोल ना दे। अब में उसके सामने गिडगिडाने लगा था सॉरी प्लीज, मुझे माफ कर दो, में ऐसा दुबारा नहीं करूँगा, तुम जो बोलोंगी वो करूँगा। बस मेरे इतना कहने की देरी थी और उस रंडी ने मेरा टावल खींच डाला। अब में उसके सामने पूरा नंगा खड़ा था और अब मेरा लंड एक कोबरा की तरह फूंकार मार रहा था।

फिर उसने मेरे लंड को अपने एक हाथ में ले लिया और बोली कि बहुत बड़ा लंड है रे तेरा और फिर वो मेरे लंड के साथ खेलने लगी। अब मुझे बहुत मज़ा आने लगा था। फिर उसने अपना पेटीकोट भी उतार दिया। अब हम दोनों नंगे खड़े थे। फिर मैंने उससे कहा कि तुम बहुत खूबसुरत हो और में तुम्हें कई साल से चोदना चाहता हूँ। तो तब उसने भी कहा कि चुदवाना तो में भी चाहती थी, लेकिन रिश्तों की सीमाओं की वजह से डरती थी। बस फिर क्या था? मैंने कहा कि आज तो सब सीमाएँ टूट गयी, आज में जी भरकर तुम्हें चोदूंगा, में आज तुम्हारी प्यास बुझाऊँगा, जो तुम्हें इतने सालों से अंकल से नहीं मिला वो मजा आज में तुम्हें दूँगा। अब हम दोनों एक दूसरे से प्यासे प्रेमियों की तरह लिपटने लगे थे। फिर मैंने उसके रसीले होंठो को जी भरकर चूसा। अब उसने भी कोई कसर बाकी नहीं रखी थी, उसके छोटे- छोटे बूब्स जिन्हें मसलने के लिए में कई सालों से आस लगाकर बैठा था, अब मेरे सामने नंगे थे। फिर मैंने जी भरकर उसके बूब्स को चूसा।

0Shares
admin
Updated: September 24, 2018 — 11:38 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sex stories in hindi © 2018 Frontier Theme
error: Content is protected !!